Tuesday, September 5, 2017

श्री मोहनलाल वर्मा के दोहा

श्री मोहनलाल वर्मा के दोहा

छंद खजाना के संकलन मा सुधार   बर दोहा----

(1)
मोहन हाबय नाँव गा,रहिथँव अल्दा गाँव।
हे किसान मोरे ददा,बड़का बेटा आँव ।।

(2)
रइपुर तिल्दा छोर मा,हाबय अल्दा गाँव।
जनमभूमि परिचय बने,मोहन वर्मा नाँव  ।।

(3)
हरियर हरियर खेत मा,धरे मया के तान।
बादर ठोंकय ढोल ला,पवन करय गुणगान  ।।

(4)
बाँटा बाँटा मा तको,खेती कमती होय ।
मनखे होगे कोढ़िया,धरती मइयाँ रोय ।।

(5)
जिहाँ सुमत के पाग हे,सरग उहाँ बन जाय।
जेकर अँगना हे मया,उहाँ राम जी आय ।।

(6)
फैशन के जुग मा लगे,नशा पान के रोग ।
घुरवा  जिनगी ला करँय,मदिरा पी के लोग  ।।

(7)
कलजुग विष दारू बने, जिनगी बिरथा होय।
तन धन कुछु बाँचय नहीं,मूँड़ धरे तब रोय ।।

(8)
कुसुम अमारी चेंच हे,पटवा अउ बोहार ।
सरसो भाजी निक लगे,चिटिक मही ला डार ।।

(9)
बथुवा भाजी खार के,खाय नहीं पछताय  ।
द्रोपति भइया कृष्ण ला,भाजी म हे  बनाय  ।।

(10)
कांदा भाजी राँध तँय , सुक्खा बोइर डार ।
नून डार कमती सहीं, होवय झन सक्खार  ।।

(11)
तिवरा भाजी राँध तँय, भाँटा मा फदकाय।
मिर्चा चटनी पीस दे,मोहन मन ललचाय  । ।

(12)
अमली के कुरमा घलो,रहिथे अमसुर स्वाद।
राँध गोंदली संग मा ,होवय झन बरबाद  ।।

रचनाकार - मोहनलाल वर्मा
ग्राम अल्दा, पोस्ट - तुलसी मानपुर, तहसील - तिल्दा, जिला -रायपुर
छत्तीसगढ़

28 comments:

  1. वाह वाह सर जी बहुत बढ़िया

    ReplyDelete
  2. बहुतेच बढ़िया दोहालरी वर्मा जी।

    ReplyDelete
  3. वाह मोहन भाई सुघर दोहा वाली

    ReplyDelete
  4. सुघ्घर दोहा छंद मोहन भाई बधाई।।

    ReplyDelete
  5. सुघ्घर दोहा छंद मोहन भाई बधाई।।

    ReplyDelete
  6. लाजवाब भावपूर्ण दोहा बर मोहन लाल जी ला बहुत बहुत हार्दिक शुभकामना।

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप सबो के आशीर्वाद अउ मार्गदर्शन के प्रतिफल आय ,गुरुदेव।सादर प्रणाम।आभार।

      Delete
  7. सुघ्घर दोहा बर मोहन भाई ल बधाई

    ReplyDelete
  8. आदरणीय गुरुदेव के सादर चरण वंदन करत आज 05 सितम्बर सर्वपल्ली डाॅ राधाकृष्णन के जन्म दिवस (शिक्षक दिवस ) के आप सबो ला अंतस ले बधाई अउ शुभकामना।
    आज के ये शुभ अवसर मा गुरुदेव के आशीर्वाद अउ मार्गदर्शन ले लिखे मोर दोहा छंद,छंद खजाना मा स्थान पाके सार्थक होगे।
    गुरुदेव संग प्रोत्साहन बर आप सबो ला सादर आभार,प्रणाम।

    ReplyDelete
  9. बहुत सुग्घर दोहा सर।सादर बधाई

    ReplyDelete
  10. बहुत सुग्घर दोहा सर।सादर बधाई

    ReplyDelete
  11. सुघ्घर दोहा भईया जी

    ReplyDelete
  12. वाहःहः मोहन भाई बहुत सुघ्घर दोहावली

    ReplyDelete
  13. बड़ सुग्घर दोहावली मोहन भैया बहुत बहुत बधाई

    ReplyDelete
  14. परिचय सँग तँय गाँव के, बढ़िया करे बखान।
    खान पान के संग मा, सुंदर सीख सुजान।।

    बहुत सुंदर रचना मोहन भाई....
    अब्बड़ अकन बधाई...

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार,प्रणाम।गुरुदेव गुप्ताजी।

      Delete