Thursday, September 7, 2017

विष्णु - पद छंद - श्रीमती शकुन्तला शर्मा

 विष्णु - पद छंद - श्रीमती शकुन्तला शर्मा

अमल विमल वर दे

सुर सरसती तोर जस गावौ, बुध देवव जननी
सादा लुगरा पहिरे आवौ, लछमी के बहिनी ।

हंस वाहिनी जगत तारिनी, सबो दोख हर ले
सब गुन विद्या रूप स्वामिनी, शकुन शरन धर ले ।

बीना के झंकार सुना के, हमला गति मति दे
पोथी के सब ग्यान बता के,भगति विमल रति दे ।

ग्यान लोक म महू किन्दर के, तोर शरन परते
तार तान ला महू साध के, तोर नाव जपते ।

जहाँ सरसती लछमी आथे, जानत हे मनखे
तोर संग सब सुख हर भाथे, मन भीतर हरखे ।

हंस सही बिन लौ गुन गुन ला,अइसे मन मति दे
भीतर के कषाय कल्मष ला, बाहिर कर गति दे ।

तोर भगति मा बूडे हावौ, जनम सफल कर दे
मनखे जनम फेर मैं पावौ, अमल विमल वर दे ।

रचनाकार - श्रीमती शकुन्तला शर्मा, भिलाई, छत्तीसगढ़

26 comments:

  1. विष्णु पद छन्द मा विमल भाव के संग विधान सम्मत रचित अनुपम वन्दना बर आदरणीया दीदी शर्मा जी ला नमन के संग हार्दिक बधाई।

    ReplyDelete
  2. सुग्घर बिष्णुपद छंद सिरजन दीदी जी।
    पयलगी अउ नंगत बधाई।

    ReplyDelete
  3. विष्णु पद छन्द मा विधान सम्मत अनुपम वन्दना बर आदरणीया दीदी हार्दिक बधाई।

    ReplyDelete
  4. विष्णु पद छन्द मा विधान सम्मत अनुपम वन्दना बर आदरणीया दीदी हार्दिक बधाई।

    ReplyDelete
  5. दीदी ल सादर पायलागी अउ अनुपम छंद बर बधाई

    ReplyDelete
    Replies
    1. सदा खुश रहो, जितेन्द्र! 😊

      Delete
    2. खुश रहो, जितेन्द्र! ��

      Delete
  6. विष्णु पद छंद मा अनुपम वंदना के सृजन दीदी ल बधाई।सादर प्रणाम।

    ReplyDelete
  7. बड़ सुग्घर विष्णु पद छंद रचे हव दीदी।बहुँत बहुँत बधाई।

    ReplyDelete
  8. अतिसुन्दर विधान सम्मत विष्णुपद छंद

    ReplyDelete
  9. बहुत बढ़िया विष्णु पद छंद दीदी

    ReplyDelete
  10. वीणावादिनी माँ सरस्वती के विष्णु पद छंद मा बहुतेच सुग्घर वंदना,दीदी ।बहुत बहुत बधाई अउ शुभकामना।प्रणाम ।

    ReplyDelete
  11. माँ सरस्वती के बड़ सुघ्घर बन्दना।बधाई हो दीदी!!

    ReplyDelete
  12. वाहःहः दीदी अनुपम भाव छंद सृजन
    सादर नमन शारद स्वरूपा दीदी

    ReplyDelete
  13. दीदी के रचना अति सुंदर, पटल अमर कर दे।
    मातु शारदे हमर मूढ़ के ज्ञान खान भर दे।।

    दीदी ल सादर सहृदय अनंत बधाई....

    ReplyDelete
  14. दीदी बहुँत बढ़िया... बधाई आपमन ल

    ReplyDelete
  15. बहुत सुग्घर रचना दीदी।सादर बधाई

    ReplyDelete
  16. बहुत सुग्घर रचना दीदी।सादर बधाई

    ReplyDelete
  17. आनन्द आगय दीदी रचना ला पढ़के

    ReplyDelete